हथनिकला मंदिर

हथनिकला देवी स्थल पर्यटन, धार्मिक विश्वास एवं श्रद्धा केंद्र के रूप में निरंतर प्रगति पर है। चारों तरफ पेड़ पौधे और सामने तालाब इस देवी स्थल के सौंदर्य पर चार चाँद लगा रहे हैं। मदिर के अंदर स्थापित अष्टभुजी माँ दुर्गा की मूर्ति जीवंत प्रतीत होती है। इस मंदिर का निर्माण ग्राम के मालगुजार स्व॰ रोहन सिंह राजपूत ने जनसहयोग से कराया है। 1972 में निर्मित यह मंदिर सभी धर्म के लोगों के लिए खुला है। धार्मिक उद्देश्य के अलावा पर्यटन के बेजोड़ उदाहरण को देखने के लिए साल भर लोग यहाँ आते रहते हैं। नवरात्रि के समय यहाँ आने वाले भक्तों की संख्या में भरी इजाफा होता है। यह बेजोड़ मंदिर जिला मुख्यालय मुंगेली से 8 किमी की दूरी पर स्थित धरमपुरा से दक्षिण पूर्व दिशा में स्थित है।

  • हथनिकला मंदिर
  • हथनिकला

कैसे पहुंचें:

ट्रेन द्वारा

बिलासपुर रेलवे स्टेशन से 55 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है पथरिया विकासखंड तक सड़क मार्ग से जुड़ा है।

सड़क के द्वारा

यह जिला मुख्यालय मुंगेली से 12 किमी दूर दक्षिण पूर्व दिशा में पथरिया विकासखंड में स्थित है